46 साल पूराने एयरक्राफ्ट वॉयजर 1 से टूटा कनेक्शन, क्या है पुरा मामला, कोन है जिम्मेदार

हाल ही में अनंत यात्रा पर निकला NASA ( National Aeronautics and Space Administration) का वॉयजर 1 यान, कुछ गलती के चलते कनेक्शन टूट चूका हैं। नासा के सभी इंजीनियर इस समस्या का हल ढूंढने में लगे हैं। वॉयजर 1 यान, ब्रह्मांड के ऐसे कोनो के बारे में जानने गया है जहां इंसान आज तक कभी नहीं गया। वॉयजर 1 यान को 5 दिसंबर 1977 को लांच किया गया था। यह दुनिया का सबसे पहला स्पेसक्राफ्ट है,जो सबसे ज्यादा दूरी तक पहुंचा हैं। इस आर्टिकल के जरिए हम वॉयजर 1 यान के बारे में पूरी जानकारी आपको बताएंगे।

NASA नही ले पा रहा वॉयजर 1 यान की जानकारी संदेश भेजने में लग रहे कई घंटो

NASA के पास फ्लाइट डाटा सिस्टम है जिसके जरिए एयरक्राफ्ट के वैज्ञानिक उपकरणों से पूरी जानकारी इखट्टा करता हैं। और इसे इंजीनियरिंग डाटा से जोड़ता है इस डाटा के जरिए धरती पर मौजूद इंजीनियर इस एयरक्राफ्ट को कंट्रोल करते हैं। लेकिन अब वॉयजर 1 का फ्लाइट डाटा सिस्टम ऑटो रिपीट में फस चूका हैं। इस बात की जानकारी 14 नवंबर को मिल चुकी थी।

हालाकि वॉयजर 1 अभी भी NASA के भेजे कमाडा को हासिल कर रहा हैं। लेकिन वॉयजर 1 धरती पर कोई डेटा नही भेज पा रहा हैं। नासा के वैज्ञानिकों का कहना हैं की वॉयजर 1 की टीम ने स्पेसक्राफ्ट को फ्लाइट डाटा रिस्टार्ट करने का कमांड दिया हैं। लेकिन कोई भी डाटा धरती पर वापस नही आया हैं। उनका कहना हैं की ऐसी घटना 1981 में भी हुई थी। लेकिन उस समय वॉयजर 1 धरती से इतना दूर नही था। वर्तमान में वॉयजर 1 इतना दूर है की हमे कमांड भेजने में 22 से 23 घण्टे लग रहे हैं। यानि नासा की टीम को जवाब के लिए पूरे 45 घण्टे इंतजार करना होगा।

वॉयजर 1 के बारे में पूरी जानकारी

1.स्पीड – 17,080 m/s

2. दूरी -24 अरब किमी

3. साल – 46 साल हो चूके हैं

4.लांच – 5 दिसंबर 1977

 

आए दिन भारत में या पूरे विश्व में नई नई टेक्नोलॉजी लांच होती रहती हैं। इन खबरों से आप वंचित ना रहे इसलिए हम आपके लिए ऐसी खबरे लिख रहे हैं। अगर आप ये ख़बर पड़ रहे हैं तो अपना आशीर्वाद कॉमेंट के रूप में अवश दे।

धन्यवाद!

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *